Sunday, November 28, 2010

नखरा..

चार्जेर रूठा या ,
या बेटरी की कमर है टूटी
इसी वजह से
टीका टिप्पणी की लत है छूटी।

मनचाहे ब्लोगों से ,
दूर रहना है अखरा,
पर क्या करें है मजबूरी,
लैपटॉप दिखा रहा है नखरा।




27 comments:

good_done said...

मजेदार है।

Kunwar Kusumesh said...

क्या बात है लैपटॉप के नखरे की. एकदम नई भाव-भूमि

Bhushan said...

आपका ब्लॉगरों के एक साझे अनुभवों को व्यक्त करना वाकई मज़ेदार रहा.

सतीश सक्सेना said...

यह नया मूड अच्छा लगा ...इन दिनों पिक्चर देखने जाइए !

निर्मला कपिला said...

अप इस से अधिक मोह करेंगी तो नखरा तो दिखायेगा न्! लेकिन आज तो चल रहा है फायदा उठा कर मेरा ब्लाग देख डालिये। शुभकामनायें।

निर्मला कपिला said...

अप इस से अधिक मोह करेंगी तो नखरा तो दिखायेगा न्! लेकिन आज तो चल रहा है फायदा उठा कर मेरा ब्लाग देख डालिये। शुभकामनायें।

प्रवीण पाण्डेय said...

अब आ गयीं हैं आप, इन बेजानों को भी क्षमा कर दीजिये।

मो सम कौन ? said...

यकीनन वक्त का कहीं और बेहतर इस्तेमाल किया होगा आपने, may be blessing in disguise सिद्ध हो जाये ये नखरापंती।

संगीता स्वरुप ( गीत ) said...

लैपटॉप के नखरे असहनीय हो जाते हैं ...लगता है अब लाईन पर आ गया होगा ...

सम्वेदना के स्वर said...

सरिता दी,
नखरा तो सहना ही होगा, इनको भी सालाना छुट्टी चाहिए..

Shekhar Suman said...

ये तकनिकी चीजें होती ही ऐसी हैं, मैं इंजिनियर होके भी कभी कभी इन सब चीजों से परेशान हो जाता हूँ.....
तब तक कहीं और दिल बह्लायिये...
और अगर चल पड़ा तो मेरा ब्लॉग हो आईये...
हा हा हा.....

sangeeta said...

एक कविता हो गयी तुम्हारे नाम
तुम रहे नहीं अनजान
अब तो हो जाओ हैप्पी
ओ सरिता जी के lappy !!

he he good one...

रचना दीक्षित said...

वैसे कह तो सही रही हैं.पर एक बात और बहाना भी अच्छा है. है ना .......

'उदय' said...

... bahut badhiyaa ... shaandaar !!!

mridula pradhan said...

maza de gayee.

डॉ॰ मोनिका शर्मा said...

अरे वह लेपटॉप के नखरे पर कविता ...... उम्मीद है अब सब ठीक है....

इमरान अंसारी said...

हा..हा..हा :-)

दिगम्बर नासवा said...

वाह क्या ख्गूब लिखा है .... लेपटोप मशीन है ... जज्बात क्या जाने ....

Sunil Kumar said...

machine ko maaf kar dijiye jaldi se vlag pe aa jaiye

Arvind Mohan said...

nice blog... have a view of my blog when free.. http://www.arvrocks.blogspot.com .. do leave me some comment / guide if can.. if interested can follow my blog...

ज्ञानचंद मर्मज्ञ said...

वाह !क्या बात है !
यह भी अच्छा लगा !
-ज्ञानचंद मर्मज्ञ

वीना said...

क्या बात है सरिता जी....बहुत खूब

Parul said...

hehehe :)

ZEAL said...

.

सरिता जी,

निर्मला जी के बाद हमारे लेख भी चेक कर डालिए लगे हाथ, यदि लैपटॉप का मूड ठीक हो तो।

मजेदार रचना के लिए आभार।

.

boletobindas said...

अब ये लेपटाप भी नखरे करने लगा है। जैसे साजन न रुठने पर नखरे करने लगता है। हद है, इस लैपटॉप की भी।

anjana said...

nice..:-)

amita said...

kabhi kabhi yeh gadgets ko bhi masti aa jaati hai :)