Saturday, January 11, 2014

हवा

स्वछंद माहौल गर हो
 हवा  को मिलता है मौका
  राहत देने  का हमे गर्मी में
बनकर   सुहावना    झोंका


बंदिशे लगी तो  इनपर
आती है सब पर शामत
तूफ़ान बन कर लाती है
हम  पर ये  आफत


तेवरों में जब इसके
आती है   कुछ  नमी
सर्दी की ठिठुराहट में
पाते  है हम  कमी


बड़े  बड़े  अडिग  सूरमा  भी
अब हवा के रुख को तकते है
जिधर को ये चल पड़ी
उसी ओर  खुद भी  बहते  है 

12 comments:

चला बिहारी ब्लॉगर बनने said...

जिसने हवा का रुख़ नहीं पहचाना उसे हवा उड़ा ले जाती है.. पुरानी कहावत है.. आन्धियों में तने हुए पेड़ उखड़ जाते हैं, जबकि दूब सुरक्षित रहती हैं!!
बहुत अच्छी कविता!!

संजय भास्‍कर said...

बहुत बढ़िया भावपूर्णप्रस्तुति...आप को मेरी ओर से नववर्ष की हार्दिक शुभकामनाएं...!!!

Digamber Naswa said...

ज़माने का दस्तूर यही है ... जहान की हवा वहाँ का रुख ... भावपूर्ण प्रस्तुति ...

Lalit Chahar said...

बहुत ही सुन्दर प्रस्तुति...

आप सभी लोगो का मैं अपने ब्लॉग पर स्वागत करता हूँ मैंने भी एक ब्लॉग बनाया है मैं चाहता हूँ आप सभी मेरा ब्लॉग पर एक बार आकर सुझाव अवश्य दें...

From : •٠• Education Portal •٠•
Latest Post : •٠• General Knowledge 006 •٠•

mango dash said...

Hey, very nice site. I came across this on Google, and I am stoked that I did. I will definitely be coming back here more often. Wish I could add to the conversation and bring a bit more to the table,but am just taking in as much info as I can at the moment. Thanks for sharing.

Mango Juice

sm said...

बहुत अच्छी कविता

Kavita Rawat said...

वर्ष बीत गया लेकिन पता नहीं हवा कहाँ बह रही हैं ....
आप ब्लॉग से दूर हुए. जब तब आपकी याद आती है ...

मनोज भारती said...

अपने बारे में कुछ बताएं? कहां हैं आजकल आप? कृपया सूचित करें।


पुरानी बस्ती said...

बेहतरीन प्रस्तुति
एक बार हमारे ब्लॉग पुरानीबस्ती पर भी आकर हमें कृतार्थ करें _/\_
http://puraneebastee.blogspot.in/2015/03/pedo-ki-jaat.html

sm said...

I wish you spend a great year ahead that starts with happiness and ends with that too. Happy New year.

shubham sharma said...

बहुत ही सुन्दर प्रस्तुति......इस प्रस्तुति में आपने 'हवा' का बेहद सुन्दर वर्णन किया है...जो कि असोचनीय है...आपकी इस रचना के लिए आपको बधाई.....ऐसी रचनाओ की अभिलाषा शब्दनगरी के पाठकों को हमेशा रहती है.....आपसे अनुरोध है कि आप शब्दनगरी पर भी ऐसी ही रचनाये प्रस्तुत करें....

International Directory Blogspot said...

Hello . Want to share your blog with the world? To find people who share the same passions as you? Come join us.
Register the name of your blog URL, the country
The activity is only friendly
Imperative to follow our blog to validate your registration
We hope that you will know our website from you friends.
http://world-directory-sweetmelody.blogspot.com/
Have a great day
friendly
Chris
please Follow our return
All entries will receive a corresponding Awards has your blog